एक देश एक राशन कार्ड योजना 2022/one nation Van ration card। नया अपडेट आया है।

दोस्तों आज मैं आपको इस लेख के माध्यम से एक राष्ट्र एक राशन कार्ड के बारे में बताने जा रहा हूं। केंद्र सरकार ने मई 2022 में एक के राष्ट्र एक राशन कार्ड को पूरे देश में शुरू कर दिया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसकी आधिकारिक घोषणा एक प्रेस कन्फेशन के की है। इस योजना के अंतर्गत जिन व्यक्ति के पास राशन कार्ड है उसे केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय पोटेबिलिटी कराकर अन्य राज्य की राशन की दुकानें से भी राशन खरीद सकते हैं। आत्मनर्भर भारत अभियान के तहत मई 2022 से इस योजना को पूरे राष्ट्र में लागू किया गया है।
एक देश एक राशन कार्ड योजना 2022।
जैसे कि हमने आपको बता दिया है कि केंद्र सरकार ने मई 2022 से एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना को शुरू कर दिया है। वैसे इस योजना को 1 साल पहले कुछ राज्यों में डिजिटल राशन कार्ड के रूप में शुरू किया गया था। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ राजस्थान बिहार झारखंड पश्चिम बंगाल कर्नाटक आदि राज्यों में वन नेशन वन राशन कार्ड फॉर्मेट को शुरू करने की घोषणा की गई थी। अब आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत स्पेशल पैकेज की घोषणा करते हुए वित्त मंत्री ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत इस योजना को आधिकारिक रूप से पूरे देश में लागू करने को कहा है।
इस योजना का नाम।    एक राष्ट्र एक राशन कार्ड
प्रस्तावित।   सन 2019 में
लांच की गई केंद्र सरकार द्वारा
लागू है वर्तमान में 16 राज्यों में
यह वही योजना कब शुरू हुई।   14 मई 2022 से
पूरे देश में लागू होगी 15 मई 2022 से
लाभार्थी अखिल भारतीय राशन कार्ड धारक
संबंधित विभाग केंद्रीय खाद्य सार्वजनिक वितरण एवं उपभोक्ता मंत्रालय।
जैसा कि आपको इस के नाम से ही पता लगता है कि यह पूरे राष्ट्र में एक ही कार्ड से लाभ लेने हेतु बनाई गई है। इस कार्ड के माध्यम से आप किसी भी राज्य में सार्वजनिक वितरण प्रणाली पीडीएस पीडीएस प्रणाली के तहत सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान से सब्सिडी वाले खाद्य प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आपको कोई अलग से या उस राज्य का कार्ड बनवाने की आवश्यकता नहीं होगी। या आपके मोबाइल नंबर की तरह ही होगा अर्थात यदि आप अपने राज्य से पीछे अंगराज में जाते हैं तो जैसे आप अपना मोबाइल नंबर नहीं बोलते उसी प्रकार अब आपको अपना राशन कार्ड भी नहीं बदलना होगा। आप किसी भी राज्य में सस्ते मूल्य पर सब्सिडी वाले खदान प्राप्त कर सकते हैं।
One nation Van ration card scheme
जैसा कि हमने आपको बता चुका हूं कि एक राशन कार्ड योजना में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के तहत आप अपने राशन कार्ड थे किसी भी राज्य की पीडीएस की दुकान से राशन प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना से देश की जनता अब किसी भी पीडीएस दुकान से बंधे नहीं रहेगा और दुकान मालिक पर निर्भरता घटेगी साथ ही राशन कार्ड के द्वारा होने वाला भ्रष्टाचार भी कम हो जाएगा। One nation one ration card scheme 2022 से सरकार सभी राशन कार्ड के लिए केंद्रीय भंडार बनाएगी और उन्हें आधार से जोड़कर फूल पोर्टेबिलिटी की सुविधा देगी। जिसके माध्यम से लोगों को सहूलियत होगी क्योंकि अब वह किसी भी सरकारी राशन दुकान से सब्सिडी वाले खदान खरीद सकते हैं।
एक देश एक राशन कार्ड के लाभ।
योजना को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर फिलहाल दो राष्ट्र राज्य आंध्र प्रदेश तेलंगाना और महाराष्ट्र गुजरात में शुरू किया गया था। जिसे जल्द ही अन्य राज्यों में शुरू करने की तैयारी चल रही है। इस योजना के शुरू होने से नागरिकों को कई लाभ प्राप्त होंगे जो निम्न प्रकार से है।
1, एक देश और एक राशन कार्ड स्कीम शुरू होने का सबसे बड़ा फायदा गरीबों को मिलेगा साथ ही नए राशन कार्ड में आवश्यकता न्यूनतम विवरण शामिल होगा।
2, यदि आप एक जगह से दूसरी जगह शिफ्ट होते हैं तो भी आप ही एक देश एक राशन कार्ड के माध्यम से आसानी से अन्य राज्यों में भी उचित मूल्य पर राशन की दुकान से राशन ले पाएंगे।
3, इस योजना के तहत फर्जी राशन कार्ड पर रोक लगाने में भी मदद मिलेगी। इसके लिए सरकार इंटीग्रेट मैनेजमेंट पब्लिक डिसटीब्यूशन सिस्टम के अंतर्गत आंकड़ को उपलब्ध कराएगी।
4, साथ आपको इसके लिए कहीं आवेदन करने की आवश्यकता नहीं होगी केंद्र सरकार स्वयं उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार लाभार्थियों के राशन कार्ड फोन पर आधार कार्ड से सत्यापित कर लिंक करेगी।
5 सभी राशन कार्ड को आधार कार्ड से लिंग के किया जाएगा और राशन का आवंटन पॉइंट ऑफ सेल की व्यवस्था शुरू होगी।
6, योजना से राशन कार्ड बन मिलने वाली राशन पर होने वाली धांधली को रोका जा सकता है।
New update। एक देश एक राशन कार्ड योजना में तीन और राज्य जोड़े गए।
1 दिन और एक राशन कार्ड के तहत सभी राज्यों को जोड़ने का लक्ष्य को आगे बढ़ाते हुए सरकार ने योजना के तहत तीन और राज्य को जोड़ दिए हैं जो ओरिसा सिक्कम और मिजोरम राज्य है। यह फैसला सरकार ने कोरोना महामारी को देखते हुए लिया। आप सभी जानते हैं कि कोरोना महामारी के चलते देश में लॉकडाउन किया गया था जिसमें बिहारी मजदूर करने वाले लोगों का बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ा। इसलिए सरकार ने एक देश एक राशन कार्ड योजना में तीन और राज्य जोड़ने का निर्णय लिया। इस लेख में इतना ही जय हिंद जय भारत

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ