Aayushman card new update, अब पांच नहीं बल्कि पूरे 10 लाख रूपया मिलेंगे मुफ्त इलाज के लिए, पूरी प्रक्रिया जाने।

आयुष्मान भारत कार्ड नई अपडेट,
₹500000 तक के इलाज की गारंटी वाली योजना आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना, (पीएम जय) की राशि 5 लाख से बढ़कर 10 लाख रुपया करने के प्रस्ताव पर काम चल रहा है। अब आयुष्मान भारत है कार्ड धारक को पूरे 10 लाख रुपया मुक्त इलाज के मिलेंगे। जिसने आयुष्मान भारत के कार्ड बनवा लिया है उन्हें यह लाभ प्राप्त होगा।

₹500000 तक के इलाज की क्रांति वाली योजना आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना की राशि 5 लाख से बढ़कर 10 लाख रुपया करने की प्रथाओं पर काम चल रहा है। जिसने आयुष्मान भारत कार्ड बनवा लिया है उन्हें यह लाभ प्राप्त होगा।

आयुष्मान भारत थे जन आरोग्य योजना के तहत 60 फ़ीसदी हिस्सा भारत सरकार तथा बाकी हिस्सा राज्य सरकार वहन करती है। अब प्रीमियम दोगुना हुआ पर केंद्र के राशि नहीं बढ़ने से राज्य पर बोझ पर रहा है। कुछ राज्य सरकारों ने केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखी है। इसमें कहा गया है कि आयुष्मान भारत योजना के तहत खर्च होने वाली राशि का 60 फ़ीसदी हिस्सा भारत सरकार वहन करें।

असल में यह योजना पर 60 से 70 फ़ीसदी खर्च राज्य सरकारों को ही करना पड़ रहा है। इस वजह से केंद्रीय प्रवृत्ति योजना होने के बाद भी राज्यों के खजाने पर आर्थिक बजे बढ़ता जा रहा है। इसी वजह से कई राज्य सरकारी पीएम जय योजना को तेजी से आगे नहीं बढ़ा पा रही है। कुछ मुख्यमंत्री ने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। कुछ मुख्यमंत्री ने चिट्ठी में लिखा है कि केंद्र सरकार ने 2018 में योजना लागू होने के बाद से प्रीमियम राशि की समीक्षा नहीं की है। इसे तत्काल बढ़ाया जाए।

शुरुआती दौर में केंद्र सरकार ने विश्व सरगु के आकलन के आधार पर प्रति परिवार 5 लाख के बीमा के लिए प्रीमियम राशि 1051 रुपया तय की थी। केंद्र अपनी 60% से हिस्सेदारी के तहत प्रीमियम की राशि 63060 देता है। अब प्रीमियम करीब ₹2000 पहुंच गई है। ऐसे में 7575 रकम राज्यों को वहन करनी पड़ रही है।

असल वजह राज्यों ने दायरा बढ़ाया अन्य को दे रहे हैं लाभ।
योजना के तहत राज्यों का खर्च बढ़ाने की वजह यह भी है कि केंद्रीय सिर्फ सामाजिक आर्थिक जातिगत जनगणना में शामिल लोगों को ही लाभ देता है। जबकि कुछ राज्य सरकारों ने इसका दायरा बढ़ा दिया है। हुए दूसरे वर्गों को भी लाभ दे रही है। वहीं कुछ राज्यों ने बीमा कवर भी 5 लाख से बढ़कर 10 लाख रुपया कर दिया है।
आयुष्मान भारत योजना क्या है?
आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना एक बीमा योजना है। जिसमें आयुष्मान कार्ड धारक 10 लाख रुपया तक का मुफ्त इलाज करवा सकता है। इस योजना का शुभारंभ 2018 में किया गया था। अभी तक के 30 करोड़ आयुष्मान कार्ड बन चुके हैं 26 राज्यों और सात केंद्र शासित प्रदेशों में. लगभग 6 करोड़ से अधिक के लाभार्थियों का मुक्त इलाज हो चुका है अब तक। पहले आयुष्मान कार्ड धारक का मुक्त इलाज ₹500000 तक के होता था लेकिन अब प्रीमियम दोगुना हुआ है यानी आप के पास अगर आयुष्मान कार्ड है तो आप मुफ्त इलाज 10 लाख रुपया तक कर सकते हैं।


आयुष्मान कार्ड कैसे बनवाएं।
आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए आपको किसी भी सेवा केंद्र पर जाकर बड़ी आसानी से बनवा सकते हैं। इसके लिए आपको आवश्यक दस्तावेज तथा दो पासपोर्ट साइज फोटो लेकर जब जन सेवा केंद्र पर जाएंगे तो सबसे पहले वह आपका नाम लिस्ट में दिखेगा। अगर आपका नाम लिस्ट में हुआ तो जन सेवा केंद्र का कार्यकर्ता आपका नाम से आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए फॉर्म भर देगा। फॉर्म भरने के समय आपके आवश्यक दस्तावेज को अटैच कर अपलोड कर देगा।
आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज।
आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए आपके पास निम्नलिखित दस्तावेज होना जरूरी है।
जाति प्रमाण पत्र।
मूल निवास प्रमाण पत्र।
आधार कार्ड नंबर।
बैंक पासबुक



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ