प्रधानमंत्री बालिका समृद्धि योजना 2024 ऑनलाइन आवेदन,क्या आप सरकार की इस स्कीम के लाभ के बारे में जानते हैं?

Pradhanmantri Balika samriddhi Yojana 2024.
सरकार बालिकाओं के समुचित विकास के लिए कई तरह की योजनाएं चल रही है। बालिकाओं के जन्म में होने से समाज में एक नकारात्मक सोच पैदा होता है। इसी नकारात्मक सोच को बदलने के लिए सरकार एक योजना चल रही है जिसका नाम है प्रधानमंत्री, बालिका समृद्धि योजना, इस योजना के माध्यम से बालिकाओं के जन्म के समय उनके माता को₹500 का आर्थिक सहायता दी जाती है। उसके बाद उस कन्या के शिक्षा के समय में भी आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है ताकि पैसे के अभाव में उसे बालिका का भविष्य खराब ना हो जाए।

प्रधानमंत्री बालिका समृद्धि योजना 2024।
हालांकि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शासनकाल के पहले से चलाई जा रही है। इस स्क्रीन को भारत सरकार की महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा सन 1997 में लागू किया गया था। इस स्क्रीन के तहत सरकार बालिकाओं के समुचित विकास के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करती है। बालिका के जन्म के बाद उसके माता को ₹500 का आर्थिक सहायता दी जाती है। उसके बाद वह जैसे-जैसे ऊंचे क्लास में जाती है वैसे-वैसे उनके आर्थिक के सहायता की राशि बढ़ती जाती है।
प्रधानमंत्री बालिका समृद्धि योजना के तहत बालिकाओं को मिलने वाली सहायता राशि इस प्रकार दी जाती है।
कक्षा 1 से 3 तक,   ₹300
कक्षा 4,         ₹500
कक्षा 5₹600
कक्षा 6 से 7 में ₹700 आर्थिक सहायता
कक्षा 8 में ₹800 छात्रवृत्ति मिलती है।
कक्षा 9 से 10 से ₹1000 छात्रवृत्ति के रूप में मिलती है।

प्रधानमंत्री बालिका समृद्धि योजना के लाभ।
बालिका समृद्धि योजना के निम्नलिखित लाभ हैं।
1, इस योजना में मिट्टी के जन्म होने पर तथा उनकी पढ़ाई की लिए सरकार आर्थिक मदद देती है।
2, इस योजना से सरकार बेटी के जन्म होने पर लोगों के मन में नकारात्मक सोच में सुधार लाएगी।
3, बालिका के दसवीं कक्षा तक पढ़ने के लिए प्रतिवर्ष निश्चित राशि दी जाती है।
4, इस योजना के माध्यम से बालिकाओं के पढ़ाई को बढ़ावा देने में सहायक होता है।
5, इस योजना के तहत छात्रवृत्ति की राशि बालिका के सीधे बैंक खाता में डाली जाती है।
6, अगर बालिका की मृत्यु 18 वर्ष से पहले हो जाती है तो उसकी छात्रवृत्ति की राशि उसके अभिभावक निकाल सकते हैं।
7, अगर बालिका की शादी उसके अभिभावक 18 वर्ष से पहले कर देते हैं तो इस योजना से सरकार द्वारा दी गई छात्रवृत्ति नहीं निकल जा सकती है।
8, इस योजना के तहत सरकार द्वारा पालिकाओं को दी जाने वाली आर्थिक सहायता के कारण उनके अभिभावक भी बालिकाओं को पढ़ना चाहते हैं।


प्रधानमंत्री बालिका समृद्धि योजना के उद्देश्य।
प्रधानमंत्री बालिका समृद्धि योजना के निम्न उद्देश्य हो सकते हैं।
समाज में उत्पन्न लिंग भेद के समस्या को समाप्त करना है।
सरकार के इस योजना से लड़कियों के भविष्य तथा पढ़ाई और स्वास्थ्य के देखभाल हो सकती है।
इस योजना के माध्यम से बालिकाएं उच्च शिक्षा प्राप्त करने में सहायता होती है।
बालिकाओं को आर्थिक सहायता देने से उनके अभिभावक भी बालिकाओं को पढ़ना चाहते हैं।
बालिकाओं को ऊंचे शिक्षा प्राप्त करने से समाज में भी बदलाव आ सकता है।
पढ़ी-लिखी बेटियां घर और समाज को अच्छी बन सकती है।

प्रधानमंत्री बालिका समृद्धि योजना में आवेदन कैसे करें?
इस योजना में सहायता प्राप्त करने के लिए आपको ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों तरीका से आवेदन कर सकते हैं। अपने नजदीकी आंगनबाड़ी सेवा केंद्र पर जाकर या स्वास्थ्य सेवा केंद्र पर जाकर फार्म प्राप्त कर सकते हैं। जहां से भी आप फार्म प्राप्त करते हैं वही आपको सही-सही भरकर फॉर्म को जमा करना होता है।
प्रधानमंत्री बालिका समृद्धि योजना में आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज।
इस योजना में आवेदन करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेज का होना जरूरी है।
1, जन्म प्रमाण पत्र।
2, माता-पिता के पहचान पत्र।
3, आय प्रमाण पत्र।
4, आधार कार्ड नंबर।
5, बैंक पासबुक का डिटेल।
6, नया दो पासपोर्ट साइज फोटो।
इस योजना में कौन लाभ ले सकता है।
इस योजना में उसे परिवार को लाभ मिलता है जो गरीबी रेखा के नीचे अपना जीवन यापन करता है। जिस परिवार का बीपीएल कार्ड बना होता है उसे परिवार की बालिकाएं इस योजना में लाभ ले सकती है।

अक्सर पूछे जाने वाला सवाल।
प्रधानमंत्री बालिका समृद्धि योजना की शुरुआत कब हुई थी।
प्रधानमंत्री बालिका समृद्धि योजना की शुरुआत 1997 में हुई थी।

प्रधानमंत्री बालिका समृद्धि योजना में कितने पैसे मिलते हैं।
इस योजना के माध्यम से बालिकाओं को कक्षा के हिसाब से छात्रवृत्ति दी जाती है, कक्षा 10 में जाने पर बालिकाओं को₹1000 की राशि दी जाती है।
इसी योजना में बालिकाओं को उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए मिलती है इतने रुपए सहायता राशि।
दसवीं कक्षा whatsapp लेनी से उसे हो नेपाल ₹10000  की मदत मिलती है। बार्बी कक्षा प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण होने पर₹25000 की सहायता राशि मिलती है। स्नातक के प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण होने पर ₹50000 तक का सहायता राशि प्रदान की जाती है। अलग-अलग राज्यों में यह राशि अलग-अलग हो सकती है।
सोशल मीडिया लिंक।
जॉइन व्हाट्सएप ग्रुप।     click here
जॉइन टेलीग्राम।         click here
जॉइन गूगल न्यूज़.       click here

आपको यह भी पसंद आ सकता है,बस्ती रोजगार मेला 2023

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ